EFFECT OF OUT-DATED APPS IN ANDROID || क्या होता अगर हम एप्प्स अपडेटेड नहीं रखते

हेलो दोस्तों अक्सर देखा जाता है लोग फ़ोन का स्टोरेज फुल होने होने के खतरे से एंड्राइड फ़ोन की एप्प्स को ही अपडेट नहीं करते पर क्या आपने कभी सोचा है इससे हमारे फ़ोन पर क्या नुक्सान हो सकता है आज का ये टॉपिक भले ही थोड़ा छोटा सा मालूम हो लेकिन ये एक बड़ा विषय है। और जानकरी के आभाव में आप अपने नए फ़ोन को भी बेकार कर बैठते है। तो बिना टाइम गवाए चलिए शुरू करते है।


Related image 

वीडियो के माद्धयम से देखना चाहेंगे




हिंदी में पढ़िए


तो दोस्तों आम तौर पे फ़ोन की एप्प्स अपडेट ना करना बड़ी ही आम बात समझी जाती है और बहुत  लोग सिर्फ ये सोच कर ही एप्प्स को अपडेट नहीं करते की इससे उनका डाटा बेकार चला जाएगा

 

 और बेकार में ही फ़ोन का स्टोरेज फुल हो जाएगा और फ़ोन हैंग होने लगेगा। 



और इन वजहों से ही जब तक किसी भी एप्प्स को अपडेट किये बिना ही उस पर वर्क किया जा सकता है हम उसे अपडेट नहीं करते है। लेकिन क्या आपको मालुम है और क्या आपने कभी इस तरफ ध्यान दिया है की अगर कोई भी एप्प अपडेट की गयी है  तो इसका मतलब ये है की उसके पुराने वर्जन में कुछ कमी रह गयी थी या फिर उसके पुराने वर्जन में किसी तरह की खराबी आ गयी थी जिसको दूर करके डेवलपर्स ने एक नयी और फ्रेश एप्प लंच की है। 
Image result for this app can slow your phone

और कई बार ऐसा भी देखा जाता है की किसी एप्प के पुराने वर्जन में कोडिंग एरर आ जाते है और कई बार तो लग्गिंग और बग्स आ  जिसके वजह से वो अप्प भले ही आपको देखने में 5MB की लग रही हो मगर वास्तव में उन प्रोब्लेम्स की वजह से वो आपके फ़ोन में ऐसा प्रभाव डालती है जैसे की आपने अपने फ़ोन में कोई 100 या 200 MB की कोई अप्प इनस्टॉल कर रखी है और इससे आपका फ़ोन जल्द ही हैंग होने लगता है। और बैटरी प्रोब्लेम्स आने लगती है

कई  बार कुछ इस तरह के एरर पुरानी एप्प्स में आते है जिसके वजह से एप्प बैटरी में बहुत प्रेसर डालने लगती है और इससे जल्द ही बैटरी फूलने लग जाती है और खराब हो जाती है और हीटिंग की प्रोब्लेम्स पैदा हो जाती है।

Image result for battery blow

क्या आपको मालूम है हर एप्प एक विशेष प्रकार के सिक्योरिटी प्रोग्राम से लैस होती है और ये सिक्योरिटी डेवलपर्स और प्रोवाइडर की तरफ से होती है और कभी कभी वो एप्प स्कैम बन जाती है इसकी वजह हो सकती है की उसके डेवलपर्स को हैक कर लिया गया हो या किसी तरह का वायरस अटैक हो गया हो तो ऐसे में जल्द उस अप्प का अपडेट लंच कर दिया जाता है और पुरानी एप्प बंद करदी जाती है लेकिन अगर किसी वजह से आपको ना पता चल पाए की वो एप्प अब एक स्कैम बन गयी है तो आप उसको अपडेट ही नहीं करते जिससे आप की सिक्योरिटी और प्राइवेसी बहुत खतरे में चली जाता है। 
तो ये बस कुछ ही बाते है जो ऊपर बतायी गयी है और भी कई परेशानिया आती है जब आप फ़ोन कि सारी एप्प्स को अप-टू-डेट नहीं रखते है। 

और रही बात परफॉमेंस की तो नयी अप्प भले ही पुराने से साइज में बड़ी हो लेकिन वो पुराने से ज़ादा आप के फ़ोन को ऑप्टिमाइज़ करती है जिससे पर्फोमन्स घटती नहीं उल्टा बढ़ जाती है। 
  
Previous
Next Post »